पराली जलाने पर 28 लोगों पर 70 हजार का जुर्माना, एक ग्राम प्रधान के अधिकार सीज, मचा हड़कंप

Published on : 10:23 PM Oct 17, 2021

बाराबंकी में पराली जलाने के मामले नहीं रुक रहे हैं. वहीं प्रशासन ने भी सख्ती बरतते हुए पराली जलाने के मामले में आरोपी 28 लोगों पर 70 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है.

बाराबंकी : अभी धान की फसल कटनी शुरू ही हुई है कि पराली जलाने के मामले सामने आने लगे हैं. बीते तीन दिनों में जिले में 17 घटनाएं फसल अवशेष जलाने की और एक घटना कूड़ा जलाने की सामने आई है. प्रशासन ने इसे गम्भीरता से लेते हुए 28 व्यक्तियों पर 70 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. जबकि एक ग्राम प्रधान के क्षेत्र में हुई घटना के लिए ग्राम प्रधान को जिम्मेदार ठहराते हुए जिला प्रशासन ने ग्राम प्रधान के समस्त अधिकार सीज किये जाने के निर्देश दिए हैं. साथ ही सम्बंधित ग्रामों के ग्राम विकास अधिकारियों और कृषि विभाग के कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है. प्रशासन द्वारा की गई इस बड़ी कार्रवाई पर ग्राम प्रधानों और लापरवाह किसानों में हड़कम्प मचा है.


नहीं रुक रही पराली जलाने की घटनाएं

बताते चलें कि तमाम नियम कानूनों और सख्ती के बावजूद भी लापरवाह किसान खेतों में पराली यानी फसल अवशेष जलाने से बाज नहीं आ रहे हैं. पराली जलाने से प्रदूषित हो रहे वातावरण को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने गम्भीरता से लिया था. नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल इस पर काबू करने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है. कृषि अपशिष्टों को जलाने से रोकने के लिए कम्बाइन हार्वेस्टिंग मशीन स्ट्रा रीपर विद बाइंडर का प्रयोग अनिवार्य किया गया है. बिना रीपर मशीन के धान की कटाई करने वाले कम्बाइन मालिकों के खिलाफ सिविल दायित्व निर्धारित करते हुए आवश्यक कार्यवाही भी की जा रही है. हालांकि अब इस बीत की भी चर्चा हो रही है कि एक तरफ योगी सरकार पराली जलाने के मामले में दर्ज पिछले मुदकमों को वापस ले रही है, वहीं अब फिर से पराली जलाने के मामले में 28 लोगों पर 70 हजार का जुर्माना प्रशासन ने लगाया है.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_6503 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-2298911949605-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_6503 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-2298911949605-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_6503=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-2298911949605-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-2298911949605-0");googletag.pubads().refresh([slot_6503]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-2298911949605-0");googletag.pubads().refresh(); });

प्रशासन ने की बड़ी कार्यवाई

यही नहीं, पराली जलाने की घटनाओं को रोकने के लिए ग्राम प्रधानों, ग्राम विकास अधिकारियों, लेखपालों और कृषि विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी भी तय की गई है, बावजूद इसके जिले में बीते तीन दिनों के अंदर फसल अवशेष जलाने की 17 घटनाएं सामने आ गईं. जिला प्रशासन ने इसे गम्भीरता से लेते हुए पराली जलाने में शामिल 28 लोगों पर 70 हजार रुपये जुर्माना लगाया है. यही नहीं, विकास खण्ड निन्दूरा के ग्राम मल्लावा की ग्राम प्रधान अनवर जहां पत्नी स्वर्गीय तजम्मुल के प्रक्षेत्र में पराली जलाने की घटना पाए जाने पर, जिलाधिकारी द्वारा धारा 95 के अंतर्गत ग्राम प्रधान के समस्त अधिकार सीज किये जाने के निर्देश दिए गए हैं.

इसे भी पढे़ं- क्या रद्द होगा भारत-पाक मैच ! गिरिराज सिंह ने दिया ये बड़ा बयान

Advertisement

कइयों से मांगा गया स्पष्टीकरण

उप कृषि निदेशक अनिल सागर ने बताया कि इसके साथ ही सम्बंधित ग्रामों के ग्राम पंचायत अधिकारियों, लेखपालों और कृषि विभाग के कर्मचारियों से स्पष्टीकरण मांगा गया है. स्पष्टीकरण संतोषजनक न होने पर उनके विरुद्ध भी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी. हालांकि अब इस बीत की भी चर्चा हो रही है कि एक तरफ योगी सरकार पराली जलाने के मामले में दर्ज पिछले मुदकमों को वापस ले रही है, वहीं फिर से पराली मामले में 28 लोगों पर 70 हजार का जुर्माना प्रशासन ने लगाया है.

Next
Latest news direct to your inbox.