पैंडोरा पेपर्स : कर छिपाने और कर चोरी करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई जरूरी

Published on : 06:01 PM Oct 11, 2021

पेंडोरा पेपर्स खुलासा ने एक बार फिर से बहस छेड़ दी है कि कर छिपाने और कर चोरी करने वालों के खिलाफ हमारी व्यवस्था कमजोर है. किसी एक के खिलाफ कार्रवाई करने से यह समस्या खत्म नहीं होगी. जब भी कार्रवाई करनी है तो कर चोरी करने वालों और कर छिपाने वालों, दोनों पर शिकंजा कसना होगा. पैंडोरा पेपर्स यह दर्शाता है कि कैसे अमीर और शक्तिशाली लोग अपनी संपत्ति को बढ़ाने के लिए वित्तीय प्रणाली का उपयोग करते हैं.

सिडनी : कर छिपाने और कर चोरी के बीच क्या अंतर है ? अंतर यह है कि कर चोरी अवैध है. कर चोरी का आशय है - उस कर का भुगतान नहीं करना, जो देय था. वहीं, कर छिपाने का मतलब ऐसी व्यवस्था से है जिसकी मदद से कर चुकाना नहीं पड़े. ऑस्ट्रेलिया के मीडिया घरानों के मालिकों में से एक केरी पैकर ने 1991 में एक संसदीय समिति को बताया, 'मैंने किसी भी तरह से, किसी भी रूप में कर की चोरी नहीं की. बेशक, मैं अपना कर घटा रहा हूं.'

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_1500 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-702082813052-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_1500 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-702082813052-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_1500=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-702082813052-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-702082813052-0");googletag.pubads().refresh([slot_1500]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-702082813052-0");googletag.pubads().refresh(); });

कर चोरी संबंधी दस्तावेजों के लीक होने का अब तक का सबसे बड़ा मामला, पैंडोरा पेपर्स यह दर्शाता है कि कैसे अमीर और शक्तिशाली लोग अपनी संपत्ति को बढ़ाने के लिए वित्तीय प्रणाली का उपयोग करते हैं, जो दर्शाता है कि यह विभेद अब अपना अर्थ खो चुका है. केवल कुछ मामलों में ही उनकी गतिविधियों को स्पष्ट रूप से अवैध घोषित किया जा सकता है.

'टैक्स हेवन' (कर चोरी के लिए पनाहगाह) कानूनी हैं Advertisement

यहां बताया गया है कि 'टैक्स हेवन' का उपयोग कैसे किया जाता है. बहामास, केमैन आइलैंड्स, हांगकांग, सिंगापुर, स्विट्जरलैंड, अमेरिका के राज्य डेलावेयर और रिपब्लिक या आयरलैंड जैसे स्थानों में कम कर दरों और गोपनीयता कानूनों के साथ ट्रस्ट और कंपनियां स्थापित की जाती हैं.

उदाहरण के लिए यदि कोई सम्पन्न हस्ती या राजनेता एक नई नौका या एक लक्जरी विला खरीदना चाहता है, लेकिन कर या स्टांप शुल्क का भुगतान नहीं करना चाहता है या अपनी संपत्ति को जांच के लिए उजागर नहीं करना चाहता है, तो वे इस तरह के ट्रस्ट के माध्यम से अपने वकील या एकाउंटेंट से ऐसा करवा सकते हैं.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_7532 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-4118947232699-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_7532 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-4118947232699-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_7532=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-4118947232699-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-4118947232699-0");googletag.pubads().refresh([slot_7532]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-4118947232699-0");googletag.pubads().refresh(); });

सेलिब्रिटी या राजनेता के लिए अपने धन का हस्तांतरण करना अवैध नहीं है (जब तक कि यह उनका है). ट्रस्ट के भीतर की संपत्ति स्थानीय कर कानूनों (कभी-कभी शून्य कर) और स्थानीय गोपनीयता कानूनों (कभी-कभी पूर्ण गोपनीयता) के अधीन होती है.

कानूनी, लेकिन अपराधी करते हैं इस्तेमाल

पैसे के लेन-देन के लिए गुप्त संस्थाओं के जटिल नेटवर्क का उपयोग करने के ये कानूनी साधन वही हैं जो अपराधियों द्वारा उपयोग किए जाते हैं. भारत के क्रिकेट सुपरस्टार सचिन तेंदुलकर के साथ-साथ कोलंबियाई पॉप गायक शकीरा और एल्टन जॉन के साथ इन पेपर्स में इतालवी अपराध माफिया रैफेल अमाटो का नाम भी शामिल है, जो हथियारों और मादक पदार्थों की तस्करी के लिए 20 साल की जेल की सजा काट रहा है. इसके अलावा दिवंगत ब्रिटिश आर्ट डीलर डगलस लैचफोर्ड का नाम भी शामिल है जो लूटे गए खजाने की तस्करी और धन शोधन के मामलों में संदिग्ध था.

यह स्पष्ट नहीं है कि ये व्यवस्था कानूनी होनी चाहिए

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_160 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8850658290041-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_160 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8850658290041-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_160=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-8850658290041-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-8850658290041-0");googletag.pubads().refresh([slot_160]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-8850658290041-0");googletag.pubads().refresh(); });

पैंडोरा पेपर्स द्वारा उठाया गया बड़ा सवाल यह है कि कर अधिकारियों से निजी संपत्ति को छुपाना कानूनी क्यों होना चाहिए. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने 2019 में अनुमान लगाया कि टैक्स हेवन ने वैश्विक स्तर पर सरकारों को प्रति वर्ष 500 अरब अमेरिकी डॉलर से 600 अरब अमेरिकी डॉलर से वंचित किया, जबकि कोविड-19 के खिलाफ दुनिया को टीका लगाने की अनुमानित लागत 50-70 अरब अमेरिकी डॉलर है.

ऑस्ट्रेलिया के माथियास कॉर्मन के नेतृत्व वाले आर्थिक सहयोग और विकास संगठन ने सप्ताहांत में एक समझौता किया, जिसके तहत 136 देशों ने बहुराष्ट्रीय निगमों पर कम से कम 15 प्रतिशत की कर दर वसूलने पर सहमति व्यक्त की, जिससे टैक्स हेवन को खोजना मुश्किल हो गया.

आयरलैंड, जिसे पहले टैक्स हेवन के रूप में इस्तेमाल किया जाता था, ने इस पर हस्ताक्षर किया. संबंधित राष्ट्रों ने ऐसा इसलिए किया क्योंकि कानूनी होने पर भी टैक्स हेवन के उपयोग में अरबों का खर्च आता है. हमें जल्द ही कानून में इस विभेद को दूर करने पर विचार करना होगा.

Next
Latest news direct to your inbox.