CCI ने गेल द्वारा जारी निविदा बोली में हेराफेरी के लिए फर्मों पर लगाया जुर्माना

Published on : 07:32 PM Oct 11, 2021

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (सीसीआई) ने दो फर्मों के खिलाफ एक अंतिम आदेश पारित किया है. पीएमपी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड और रति इंजीनियरिंग पर जुर्माना लगाया गया है.

नई दिल्ली : गुजरात के अहमदाबाद और आणंद क्षेत्रों में स्थित कुओं की साइट की बहाली के लिए 2017-18 में गेल द्वारा निविदा की बोली में हेराफेरी करने के लिए पीएमपी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड और रति इंजीनियरिंग पर जुर्माना लगाया गया.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_7685 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-4391208095297-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_7685 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-4391208095297-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_7685=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Bharat-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-4391208095297-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-4391208095297-0");googletag.pubads().refresh([slot_7685]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-4391208095297-0");googletag.pubads().refresh(); });

डीजी द्वारा एकत्र किए गए जांच और इलेक्ट्रॉनिक/दस्तावेजी साक्ष्य के साथ-साथ रिकॉर्ड पर उपलब्ध अन्य सबूतों के आधार पर सीसीआई ने पाया कि दोनों फर्म गेल द्वारा मंगाई गई निविदा के संबंध में और अपनी बोलियां जमा करने के बाद भी एक-दूसरे के साथ नियमित संपर्क में थीं.

यह भी पढ़ें-स्विटजरलैंड ने भारत को दिए स्विस बैंक अकाउंट डिटेल Advertisement

इसके अलावा पीएमपी इंफ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के परिसर से एक ही आईपी पते से दो फर्मों की बोलियां जमा की गईं. सीसीआई ने पाया कि इस तरह के आचरण ने प्रतिस्पर्धा अधिनियम 2002 की धारा 3 (1) के साथ धारा 3(3)(डी) के प्रावधानों का उल्लंघन किया है, जो बोली में हेराफेरी सहित प्रतिस्पर्धा-विरोधी समझौतों को प्रतिबंधित करता है. सीसीआई ने पीएमपी इंफ्राटेक प्राइवेट पर 25 लाख व रति इंजीनियरिंग पर 2.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है.

Next
Latest news direct to your inbox.