प्रख्यात गणितज्ञ कमरुल हसन को मिलेगा आउटस्टेंडिंग रिसर्चर अवार्ड- 2021

Published on : 08:15 PM Oct 16, 2021

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के गणित विभाग के प्रख्यात गणितज्ञ प्रोफेसर कमरुल हसन अंसारी को विज्ञान श्रेणी में ‘आउटस्टेंडिंग रिसर्चर अवार्ड-2021 के लिए चयनित किया गया है. प्रोफेसर अंसारी को 17 अक्टूबर को आनलाइन आयोजित होने वाले सर सैयद दिवस समारोह के दौरान पुरस्कृत किया जायेगा. यह पुरस्कार गणित के क्षेत्र में उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के दृष्टिगत प्रदान किया जा रहा है.

अलीगढ़ : अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के गणित विभाग के प्रख्यात गणितज्ञ प्रोफेसर कमरुल हसन अंसारी को विज्ञान श्रेणी में 'आउटस्टेंडिंग रिसर्चर एवार्ड-2021' के लिए चयनित किया गया है. प्रोफेसर अंसारी को 17 अक्टूबर को आनलाइन आयोजित होने वाले सर सैयद दिवस समारोह के दौरान पुरस्कृत किया जायेगा. यह पुरस्कार गणित के क्षेत्र में उनकी उत्कृष्ट उपलब्धियों के दृष्टिगत प्रदान किया गया है. एएमयू का गणित विभाग पहले भी सुर्खियों में रहा है.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_621 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-6509852802460-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_621 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-6509852802460-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_621=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-6509852802460-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-6509852802460-0");googletag.pubads().refresh([slot_621]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-6509852802460-0");googletag.pubads().refresh(); });

रसायन विज्ञान विभाग के असिसिटेंट प्रोफेसर डा० मोहम्मद जैन खान और इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के असिस्टेट प्रोफेसर डा० मोहम्मद तारिक को विज्ञान श्रेणी में 'यंग रिसर्चर्स अवार्ड- 2021 के लिये चुने गए हैं. जबकि मानविकी और सामाजिक विज्ञान के क्षेत्र में शारीरिक शिक्षा विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डा० मोहम्मद अरशद बारी को 'यंग रिसर्चर्स अवार्ड- 2021' के लिए चुना गया है.


इनोवेशन काउंसिल और यूनिवर्सिटी इनक्यूबेशन सेंटर द्वारा की गई घोषणा के अनुसार प्रोफेसर कमरुल हसन अंसारी के पास एच-इंडेक्स 39 के साथ 4000 से अधिक सायटेशंस हैं. और उन्होंने मेट्रिक स्पेस (नरोसा) सहित 10 पुस्तकें प्रकाशित की हैं. इसके अतिरिक्त वह जेनरलाइज्ड कन्वैक्सिटी एण्ड नान स्मूथ वेरिएशनल इनइक्वालिटीज़ (टेलर एण्ड फ्रासिस) के सह-लेखक भी हैं. विश्व के प्रतिष्ठित वैज्ञानिक प्रकाशनों जैसे स्प्रिंगर, टेलर एण्ड फ्रांसिस, एल्सेवियर आदि ने उनकी पुस्तकें प्रकाशित की हैं. वह जर्नल ऑफ ऑप्टिमाइजेशन थ्योरी एंड एप्लीकेशन, फिक्स्ड प्वाइंट थ्योरी एंड एप्लीकेशन, कार्पेथियन जर्नल ऑफ मैथमेटिक्स, फिक्स्ड प्वाइंट थ्योरी (रोमानिया) के सहयोगी संपादक और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध पत्रिकाओं के अतिथि संपादक हैं. प्रोफेसर अंसारी ने अंतरराष्ट्रीय ख्याति की पत्रिकाओं में 250 से अधिक शोध पत्र भी प्रकाशित किए हैं.

विज्ञान, लाइफ साइंस, इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नालोजी, मेडिसिन आदि संकायों एवं इंटरडिसीप्लीनरी बायोटेक्नोलॉजी यूनिट श्रेणी में डा० मोहम्मद ज़ैन खान और डा० मोहम्मद तारिक ‘यंग रिसर्चर्स अवार्ड-2021‘ के लिये चयनित किया गया है. इन शोधकर्ताओं ने अनुसंधान और शिक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्टता के साथ अपनी सेवाऐं प्रदान की हैं. इरास्मस मुंडस फेलो, डा० मोहम्मद ज़ैन खान ने डीएसटी फास्ट ट्रैक यंग साइंटिस्ट स्कीम के अन्तर्गत प्रोजेक्ट साइंटिस्ट के रूप में कार्य किया है. और भौतिकी विज्ञान और बायो इलेक्ट्रो केमिस्ट्री के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है.
Advertisement


डा० मोहम्मद तारिक ने भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अन्तर्गत राष्ट्रीय महासागर प्रौद्योगिकी संस्थान और सिंगापुर में रोल्स-रॉयस कॉर्पोरेट रिसर्च लैब में वैज्ञानिक के रूप में काम किया है. वह विभिन्न प्रायोजित राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय अनुसंधान परियोजनाओं का निर्देशन कर चुके हैं. इसके अतिरिक्त वह पावर कन्वर्टर्स, ऊर्जा भंडारण उपकरणों, विद्युत परिवहन और नवीकरणीय ऊर्जा अनुप्रयोग के लिए आप्टीमल कंट्रोल के क्षेत्र में शोधकर्ताओं की टीम का नेतृत्व कर रहे हैं.

इसे भी पढे़ं- यूपी कैबिनेट मंत्री ने छत्तीसगढ़ की घटना को लेकर विपक्ष पर साधा निशाना

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_6485 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-3527352749605-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_6485 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-3527352749605-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_6485=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-3527352749605-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-3527352749605-0");googletag.pubads().refresh([slot_6485]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-3527352749605-0");googletag.pubads().refresh(); });



कला, सामाजिक विज्ञान, प्रबंधन और ला संकायों की श्रेणी में ‘यंग रिसर्चर्स अवार्ड‘ प्राप्त करने वाले डा० मोहम्मद अरशद बारी ने खेल के मैदान में चोट और बीमारी जैसी रूकावटों से निपटने के साथ ही बेहतर प्रदर्शन देने में मानव शरीर की संभावनाओं पर महत्वपूर्ण योगदान दिया है. फीफा विश्व कप 2018 में अपने देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले अंतरराष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ियों पर आधारित उनके केस स्टडीज को ख्याति प्राप्त है.

Next
Latest news direct to your inbox.