संघीय सरकार ने टेक्सास के किशोर हिरासत केंद्रों की जांच शुरू की

Published on : 04:01 PM Oct 14, 2021

अमेरिका के न्याय विभाग ने टेक्सास के किशोर हिरासत केंद्रों में दुर्व्यवहार के आरोपों की जांच शुरू कर दी है. पढ़ें पूरी खबर...

ऑस्टिन (अमेरिका) : अमेरिका के न्याय विभाग ने टेक्सास के किशोर हिरासत केंद्रों में दुर्व्यवहार के आरोपों की जांच बुधवार को आरंभ किया, जहां कम से कम 11 कर्मियों को हाल के वर्षों में यौन उत्पीड़न के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_8460 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-64529845028-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_8460 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-64529845028-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_8460=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-International-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-64529845028-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-64529845028-0");googletag.pubads().refresh([slot_8460]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-64529845028-0");googletag.pubads().refresh(); });

बाइडन प्रशासन का यह कदम टेक्सास किशोर न्याय विभाग के लिए संकट का एक और संकेत है, जो पिछले एक दशक से अधिक समय से घोटालों और उत्पीड़न के आरोपों से जूझ रहा है. पिछले सप्ताह ही वेस्ट टेक्सास के एक पूर्व प्रशिक्षक को हिरासत में बंद 18 वर्षीय किशोरी के यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

संघीय न्याय विभाग की जांच संबंधी घोषणा से एक साल पहले टेक्सास में वकीलों ने संघीय जांचकर्ताओं से किशोरों के पांच हिरासत केंद्रों में 'गंभीर समस्याओं' की शिकायत की थी. Advertisement

पढ़ें :- टेक्सास के स्कूल में गोलीबारी, चार लोग घायल, आरोपी छात्र गिरफ्तार

सितंबर में प्रकाशित एक एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, टेक्सास ने 2019 में 800 से अधिक युवाओं को राज्य किशोर हिरासत केंद्र में रखा गया था. यह संख्या किसी भी अन्य राज्य से अधिक थी.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_6598 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8877238307420-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_6598 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8877238307420-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_6598=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-International-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-8877238307420-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-8877238307420-0");googletag.pubads().refresh([slot_6598]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-8877238307420-0");googletag.pubads().refresh(); });

न्याय विभाग के नागरिक अधिकार प्रभाग के सहायक अटॉर्नी जनरल क्रिस्टन क्लार्क ने कहा, 'हानिकारक परिस्थितियों में रखने से बच्चों का पुनर्वास नहीं होता. इससे जीवन में बेहद खराब परिणाम देखने को मिलते हैं.'

(पीटीआई-भाषा)

Next
Latest news direct to your inbox.