पेले से आगे निकले छेत्री, भारत ने आठवां सैफ खिताब जीता

Published on : 03:00 PM Dec 28, 2021

भारत ने रिकॉर्ड आठवीं बार सैफ चैम्पियनशिप जीती, लेकिन एक क्षेत्रीय टूर्नामेंट में जीत से बहुत कुछ बदलने वाला नहीं है. बड़ी टीमों के खिलाफ जीत दर्ज करनी जरूरी है. ऐसे मौके भी आए, लेकिन ऐन क्षणों में लय गंवाने से भारत को ड्रॉ से संतोष करना पड़ा.

नई दिल्ली: भारतीय फुटबॉल के लिए बीता साल खास उल्लेखनीय नहीं रहा, जिसमें कुछ जीत मिली तो कुछ हार. इस साल कप्तान सुनील छेत्री ने अंतरराष्ट्रीय गोलों के मामले में फुटबॉल के जादूगर पेले को पीछे छोड़ दिया तो महिला टीम के प्रदर्शन की भी चर्चा हुई.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_4173 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8269613368613-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_4173 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8269613368613-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_4173=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-8269613368613-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-8269613368613-0");googletag.pubads().refresh([slot_4173]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-8269613368613-0");googletag.pubads().refresh(); });

भारतीय फुटबॉल को साल 2021 में कोई बड़ी सफलता नहीं मिली. पचास और साठ के दशक का अपना खोया गौरव लौटाने की कोशिश में जुटी टीम उस पल का इंतजार ही करती रही, जो देश में इस खेल की दशा और दिशा बदल सके.

फीफा विश्व कप 2022 क्वॉलीफायर में भारत ने आठ मैचों में चार ड्रॉ खेले, तीन हारे और बस एक जीतकर कुल सात अंक बनाए. भारतीय टीम ने छह गोल किए और सात गंवाए और एक बार फिर दूसरे दौर की बाधा पार नहीं कर सकी. Advertisement

Read More :

यह भी पढ़ें: कभी PAK को भी मिली थी शर्मनाक हार, 18-0 से भारत की महिला टीम ने रौंदा था

भारत क्वॉलीफायर के ग्रुप ई में कतर और ओमान के बाद तीसरे स्थान पर रहा. अभी भी उसके पास साल 2023 एएफसी एशियन कप के जरिए उसके पास क्वॉलीफिकेशन का मौका है. इस साल सुनील छेत्री ने नेपाल के खिलाफ सैफ चैम्पियनशिप में पहला गोल करते हुए पेले को पीछे छोड़ा. अब उनके अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में 80 गोल हो गए हैं और उन्होंने लियोनेल मेस्सी की बराबरी कर ली.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_9248 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8612345927972-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_9248 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-8612345927972-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_9248=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-Sports-Others-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-8612345927972-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-8612345927972-0");googletag.pubads().refresh([slot_9248]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-8612345927972-0");googletag.pubads().refresh(); });

भारत ने बांग्लादेश से ड्रॉ खेला और श्रीलंका से गोलरहित बराबरी की, जिसकी काफी आलोचना हुई. भारतीय टीम हालांकि समय रहते चेती और वापसी करके टूर्नामेंट जीता. इससे मुख्य कोच इगोर स्टिमक के कार्यकाल में भी एक साल का विस्तार हो गया.

यह भी पढ़ें: विश्व कप क्वॉलीफायर में जापान ने आस्ट्रेलिया को हराया

महिला फुटबॉल टीम ने दक्षिण अमेरिका का दौरा करके ब्राजील जैसी दिग्गज टीम के खिलाफ मैच खेला. अगले साल अपनी मेजबानी में एएफसी एशियन कप और अंडर-17 फीफा विश्व कप की तैयारी में जुटी भारतीय महिला टीम ने 14 में से 11 मैच गंवाए. एएफसी महिला एशियन कप में भारत को ईरान, चीनी ताइपे और चीन के साथ रखा गया है. इस साल इंडियन सुपर लीग की टीम एफसी गोवा ने एएफसी चैम्पियंस लीग खेलकर इतिहास रचा. यह कमाल करने वाला वह पहला भारतीय क्लब है.

Next
Latest news direct to your inbox.