चित्रकूट जेल में गोलीकांडः सीएम योगी ने 6 घंटे के अंदर मांगी रिपोर्ट

Published on : 05:36 PM May 14, 2021

17:09 May 14

मामला चित्रकूट जिला कारागार का है. कुल तीन कैदियों की मौत हुई है. मुकीम काला के साथ अंशु दीक्षित और मेराज अली भी मारा गया. सीएम योगी ने मामले पर संज्ञान लेते हुए डीजी जेल से 6 घंटे में रिपोर्ट तलब की है.

मुकीम काला का आपराधिक इतिहास.

चित्रकूट: चित्रकूट जिला कारागार में बदमाश मुकीम काला की गोली मारकर हत्या कर दी गई. बताया जा रहा है कि अंशु दीक्षित ने मुकीम काला की हत्या की है. वहीं जवाबी कार्रवाई में अंशुल दीक्षित भी मारा गया. मुकीम काला पश्चिमी यूपी का बड़ा बदमाश था. इसके अलावा एक और कैदी मेराज अली भी मारा गया है. इसे मुख्तार अंसारी का करीबी मना जाता है. मामले पर सीएम योगी ने संज्ञान लेते हुए डीजी जेल से 6 घंटे में रिपोर्ट मांगी है.

Advertisement

डीजी जेल आनंद कुमार के प्रवक्ता संतोष वर्मा के मुताबिक, चित्रकूट जेल से प्राप्त सूचना के अनुसार जिला जेल चित्रकूट की उच्च सुरक्षा बैरक में निरुद्ध अंशु दीक्षित पुत्र जगदीश, जो जिला जेल सुलतानपुर से प्रशासनिक आधार पर 08 दिसंबर 2019 को स्थानांतरित होकर चित्रकूट में निरूद्ध है, ने शुक्रवार सुबह लगभग 10:00 बजे जिला जेल सहारनपुर से प्रशासनिक आधार पर 07 मई 2021 को आए बंदी मुकीम काला व बनारस जिला जेल से 20 मार्च 2021 को प्रशासनिक आधार पर आए मेराजुद्दीन उर्फ मेराज अली को असलहे से मार दिया. इसके साथ ही उसने पांच अन्य बंदियों को भी अपने कब्जे में कर लिया और उन्हें जान से मारने की धमकी देने लगा. क्योंकि उसके पास असलहा था, ऐसे में जिला प्रशासन को सूचना दी गई.

सीएम ने मांगी रिपोर्ट Advertisement

Read More :

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चित्रकूट जेल में कैदियों के संघर्ष के दौरान हुई हत्याओं के मामले को गंभीरता से लिया है. मुख्यमंत्री ने छह घंटे के अंदर डीजी जेल से रिपोर्ट तलब की है. मुख्यमंत्री ने पूरे मामले की जांच के लिए कमिश्नर चित्रकूट डीके सिंह, पुलिस महानिरीक्षक चित्रकूट के सत्यनारायण और उप महानिरीक्षक कारागार मुख्यालय संजीव त्रिपाठी की संयुक्त टीम बनाई गई है. छह घंटे यह संयुक्त टीम मुख्यमंत्री को आख्या देगी.

मौके पर पहुंचे डीएम-एसपी

चित्रकूट के डीएम और एसपी द्वारा पहुंचकर बंदी को नियंत्रित करने का बहुत प्रयास किया गया, लेकिन वह पांच अन्य बंदियों को भी मार देने की धमकी देता रहा. उसकी आक्रामकता और जिद को देखते हुए पुलिस द्वारा कोई विकल्प न देखते हुए की गई फायरिंग में अंशु दीक्षित भी मारा गया. 

ये भी पढ़ें: हैवानियत: कन्नौज में बुजुर्ग महिला से गैंगरेप, ईंट से हमला कर फोड़ी आंख

इस प्रकार कुल 3 बंदी इस घटना में मारे गए हैं, जिसमें अंशु दीक्षित पुलिस द्वारा जबकि मुकीम काला और मेराज अली को अंशु दीक्षित ने असलहे से मारा है. कारागार में तलाशी कराई जा रही है.

नियंत्रण में स्थिति

जिलाधिकारी तथा एसपी मौके पर मौजूद हैं और घटनाक्रम की जानकारी प्राप्त कर रहे हैं. फिलहाल कारागार में शांति है और स्थिति नियंत्रण में है.

12:30 May 14

गैंगवार पर पुलिस ने दी जानकारी

चित्रकूट जिला कारागार में गैंगवार.

पुलिस अधीक्षक अंकित मित्तल ने बताया कि सुबह 9:00 से 9:30 के बीच में सहारनपुर से प्रशासनिक आधार पर आए कैदी मुकीम काला और बनारस से आए कैदी मेराज अली के साथ, उसी बैरिक में बंद अंशु दीक्षित से बहस हो गई. मामला तूल पकड़ने पर उसने फायरिंग कर दी. जब पुलिस ने अंशुल दीक्षित से आत्मसमर्पण करने को कहा तब उसने पुलिस पार्टी पर ही फायर कर दिया. वहीं पुलिस की जवाबी कार्रवाई में अंशुल दीक्षित ढेर हो गया है. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि जेल के अंदर पहुंचे असलहे के संबंध में जांच की जा रही है, जांच में आए दोषियों के ऊपर कार्रवाई की जाएगी.

Next
Latest news direct to your inbox.