बिजली संकट ! झांसी के पारीछा में थर्मल पावर प्रोजेक्ट की दो यूनिट बंद, प्रोडक्शन आधे से भी हुआ कम

Published on : 06:48 PM Oct 11, 2021

कोयले की आपूर्ति कम होने की वजह से झांसी जिले के पारीछा में स्थित थर्मल पावर प्रोजेक्ट की दो यूनिट बंद हो गई हैं. ऐसे में बिजली कटौती होने से जिला वासियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है.

झांसी : जिला वासियों को बिजली कटौती का सामना करना पड़ रहा है. पर्याप्त उत्पादन नहीं होने की वजह से जिले में बिजली संकट गहरा रहा है. झांसी के पारीछा में स्थित थर्मल पावर प्रोजेक्ट में लगी चार यूनिट में से दो यूनिट केवल इसलिए बंद कर दी गईं, क्योंकि कोयले की आपूर्ति पर्याप्त मात्रा में नहीं हो रही थी. पिछले शनिवार और रविवार को एक एक यूनिट बंद की गई थी. अब केवल दो यूनिट से ही काम चलाया जा रहा है. इससे उत्पादन गिर गया है. बिजली पर्याप्त मात्रा में सप्लाई नहीं होने से लोग परेशान हैं. विद्युत वितरण राम अब भरोसे है. किसको कितनी बिजली मिलती है, यह उसके किस्मत की बात है.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_2466 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-9780623080773-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_2466 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-9780623080773-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_2466=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-9780623080773-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-9780623080773-0");googletag.pubads().refresh([slot_2466]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-9780623080773-0");googletag.pubads().refresh(); });

आपको बता दें, पारीछा थर्मल पावर हाउस में 920 मेगावाट बिजली का उत्पादन चारों यूनिट के चलते होता है. लेकिन दो यूनिट के बंद होने के बाद उसकी आधी बिजली बनाना मुश्किल हो गया है. अर्थात 24 घंटे में जो 460 मेगावाट बिजली बननी चाहिए थी, वह नहीं बन पा रही है. क्योंकि प्रतिदिन पावर हाउस को मात्र दो रैक ही कोयले की मिल पा रही है, जबकि प्रतिदिन की खपत चार से पांच रैक होती है. ऐसे में उत्पादन गिरा है. शुरुआत में 460 मेगावाट, उसके बाद 380 मेगावाट, फिर 372 मेगावाट और अंत में पिछले 24 घंटे के अंदर में 270 मेगावॉट पर ही उत्पादन आकर थम गया.

बिजली संकट !

परियोजना के मुख्य महाप्रबंधक मनोज सचान बताते हैं कि फिलहाल स्थिति जस की तस है. हालांकि, 2 दिनों में रैक समय पर मिली हैं, लेकिन हमने प्रोडक्शन अभी नहीं बढ़ाया है, इसके बारे में सोमवार को निर्णय लिया जाएगा. क्योंकि हमारे पास लगभग 12000 से 15 हजार मैट्रिक टन कोयला अतिरिक्त स्टॉक में आ गया है. यदि रैकों की आपूर्ति सुनिश्चित हो जाए तो जल्द ही उत्पादन भी बढ़ जाएगा. उन्होंने संभावना जताई कि आगामी 15 अक्टूबर तक कोयले की आपूर्ति पूरी तरह से होने लगेगी. समय पर कोयले की रैक आएगी और हम 15 अक्टूबर के बाद शायद अपने चारों यूनिट एक बार फिर से शुरू कर सकेंगे. इस बात को भी उन्होंने स्वीकार किया कि जब उत्पादन कम हो रहा है तो निश्चित तौर पर क्षेत्र में आपूर्ति भी प्रभावित हो रही है. यही कारण है कि कटौती भी बड़ी है.

इसे भी पढ़ें- लखीमपुर खीरी मामला: राकेश टिकैत बोले- मंत्री अजय मिश्रा भी हैं आरोपी, गिरफ्तारी के बिना निष्पक्ष जांच संभव नहीं

Advertisement

झांसी जनपद में भी इस संकट की घड़ी में उत्पादन की कमी ने कटौती बढ़ा दी है. झांसी में जो बिजली मिलती थी, उसमें अब कम से कम 4 से 5 घंटे की कटौती नगरीय क्षेत्र में और 9 से 10 घंटे की कटौती ग्रामीण क्षेत्र में की जा रही है. इस कटौती से आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_7059 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-5668347274714-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_7059 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-5668347274714-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_7059=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-5668347274714-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-5668347274714-0");googletag.pubads().refresh([slot_7059]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-5668347274714-0");googletag.pubads().refresh(); });
Next
Latest news direct to your inbox.