यहां रावण की पूजा करने से पूरी होती है शादी की मुराद

Published on : 02:00 PM Oct 15, 2021

उत्तर प्रदेश के बदायूं के साहूकारा मोहल्ले में रावण का प्राचीन मंदिर है. यहां रावण की विधिवत पूजा होती है. मान्यता है कि इस मंदिर में विजय दशमी के दिन शादी की मन्नत मांगने वालों की मुराद जल्द पूरी होती है.

बदायूं: भगवान राम के द्वारा रावण वध को दशहरे के पर्व के रूप में मनाया जाता है. भारतीय संस्कृति में राम को नायक माना जाता है. जिले में रावण का एक मंदिर है जहां रावण की विधिवत पूजा होती है. दशहरे के दिन इस मंदिर में विशेष पूजा होती है. इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि इस दिन शादी की मन्नत मांगने वालों की मुराद जल्द पूरी होती है.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_6274 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-1036058126119-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_6274 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-1036058126119-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_6274=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-1036058126119-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-1036058126119-0");googletag.pubads().refresh([slot_6274]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-1036058126119-0");googletag.pubads().refresh(); });

साहूकारा मोहल्ले में स्थित है रावण का प्राचीन मंदिर

बदायूं शहर के साहूकारा मोहल्ले में रावण का प्राचीन मंदिर स्थित है. इस मंदिर में रावण की विशालकाय प्रतिमा विराजमान है. रावण की यह प्रतिमा भगवान शिव की तरफ आराधना करते हुए दिखाई गई है. इसके पीछे तर्क यह है कि रावण शिव का भक्त था और शिव जी ने उसकी तपस्या से प्रसन्न होकर उसे वरदान दिया था. कहा जाता है कि रावण परम ज्ञानी था. वह जानता था कि सीता माता लक्ष्मी जी का अवतार हैं और इसीलिए वह सीता जी का हरण करके ले गया. इस तर्क को मानने वाले आज भी रावण की पूजा करते हैं. Advertisement

पूजा करने से पूरी होती है शादी की मुराद

इस मंदिर की ख्याति दूरदराज तक फैली हुई है. इसलिए दशहरे पर श्रद्धालु दूर-दूर से यहां आते हैं और रावण की विधिवत पूजा करते हैं. कहते हैं कि जिन लोगों की शादी होने में रुकावट आ रही होती है, वह यहां आकर विजय दशमी के दिन मन्नत मांगें तो उनकी मुराद बहुत जल्दी पूरी होती है.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_5146 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-6811696386297-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_5146 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-6811696386297-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_5146=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-Hindi-uttar-pradesh-State-lucknow-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-6811696386297-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-6811696386297-0");googletag.pubads().refresh([slot_5146]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-6811696386297-0");googletag.pubads().refresh(); });

आज भी हैं रावण के उपासक

देश के अलग-अलग प्रान्तों में पूजा भले ही अलग अलग तरीके से होती हो, लेकिन पूजा देवत्व गुणों की ही होती है. रावण के मंदिर की स्थापना के क्या कारण थे यह कहना मुश्किल है. लेकिन जिस रावण का हर वर्ष आसुरी प्रवृत्ति के कारण दहन किया जाता है उस रावण के उपासक आज भी हैं.

इसे भी पढ़ें- Dashanan Ravan Mandir: देश का एक ऐसा मंदिर जो केवल दशहरे पर खुलता है, लोग करते हैं रावण की पूजा

Next
Latest news direct to your inbox.