ईरान से निपटने के लिए 'प्लान बी' पर विचार कर रहे अमेरिका, इजराइल

Published on : 03:52 PM Oct 14, 2021

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और इजराइली विदेश मंत्री येर लापिद ने कहा कि अगर अमेरिका के तेहरान परमाणु समझौते में फिर से शामिल होने के बावजूद ईरान समझौते के अनुपालन की तरफ लौटने की पेशकश को ठुकराता है तो इस स्थिति से निपटने के लिए दोनों देशों के बीच 'अन्य विकल्पों' पर चर्चाएं शुरू हो गई हैं.

वॉशिंगटन : अमेरिका और इजराइल ने बुधवार को कहा कि ईरान के 2015 के ऐतिहासिक परमाणु समझौते को बचाने के लिए सही मंशा से बातचीत के लिए नहीं लौटने की स्थिति में वे इस्लामी गणराज्य से निपटने के लिए 'प्लान बी' पर विचार कर रहे हैं.

Advertisement

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_7286 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-945323262373-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_7286 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-945323262373-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_7286=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-International-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-945323262373-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-945323262373-0");googletag.pubads().refresh([slot_7286]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-945323262373-0");googletag.pubads().refresh(); });

विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और इजराइली विदेश मंत्री येर लापिद ने कहा कि अगर अमेरिका इस समझौते में फिर से शामिल होता है और इसके बावजूद ईरान समझौते के अनुपालन की तरफ लौटने की उसकी पेशकश को ठुकराता है तो इस स्थिति से निपटने के लिए दोनों देशों के बीच 'अन्य विकल्पों' पर चर्चाएं शुरू हो गई हैं.

उन्होंने इस बारे में विस्तार से नहीं बताया कि ये विकल्प क्या होंगे लेकिन ऐसे कई गैर-कूटनीतिक विकल्प हैं जिनपर विचार किया जा सकता है. इनमें बढ़े हुए प्रतिबंधों से लेकर सैन्य विकल्प शामिल हैं. बाइडेन प्रशासन की प्राथमिकता इस समझौते को पुनर्जीवित करना रही है और इस दिशा में काम नहीं करना उसकी विदेश नीति उद्देश्यों के लिए झटका साबित हो सकता है. Advertisement

ये टिप्पणियां अमेरिका की ओर से मानी गई दुर्लभ स्वीकृति है कि वह ईरान के साथ कूटनीति विफल रहने की सूरत में आगे की रणनीति पर विचार कर रहा है.

इजराइल कभी भी परमाणु समझौते का हिस्सा नहीं रहा है और इसके पूर्व प्रधानमंत्री बेंजमिन नेतन्याहू, ओबामा प्रशासन द्वारा किए गए इस समझौते के मुखर विरोधी रहे हैं. अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस समझौते से 2018 में अमेरिका को अलग कर लिया था.

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_2926 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-9098140347613-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_2926 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-9098140347613-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_2926=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-International-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-9098140347613-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-9098140347613-0");googletag.pubads().refresh([slot_2926]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-9098140347613-0");googletag.pubads().refresh(); });

ब्लिंकन और लापिद ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के विदेश मंत्री के साथ विदेश मंत्रालय में एक संयुक्त प्रेस वार्ता में यह टिप्पणी की. इस वार्ता में तीनों तथाकथित 'अब्राहम समझौतों' का विस्तार करने की कोशिश करने पर सहमत हुए. ट्रंप शासन काल में हुए इन समझौतों ने इजराइल, यूएई और अन्य अरब देशों के बीच संबंधों को सामान्य बनाया था.

यह भी पढ़ें- अक्टूबर हिन्दू विरासत का महीना, इस दौरान हिन्दू अपनी संस्कृति का उत्सव मनाते हैं : अमेरिकी सांसद

उनकी टिप्पणी तब आई है जब ईरान ने संकेत दिया है कि वह वियना में अमेरिका के साथ परोक्ष वार्ता करने के लिए तैयार है, लेकिन कोई तारीख नहीं दी है. ईरान ने समझौते के तहत बाधित अपनी परमाणु गतिविधियों की सीमाओं को तोड़ना जारी रखा हुआ है.

(पीटीआई-भाषा)

window.googletag = window.googletag || {cmd: []}; googletag.cmd.push(function() {var userAgent = window.navigator.userAgent.toLowerCase();var Andrioid_App = /webview|wv/.test(userAgent);var Android_Msite = /Android|webOS|BlackBerry|IEMobile|Opera Mini/i.test(navigator.userAgent);var iosphone = /iPhone|iPad|iPod/i.test(navigator.userAgent);var is_iOS_Mobile = /(iPhone|iPod|iPad).*applewebkit(?!.*version)/i.test(navigator.userAgent); if ( Andrioid_App == true || iosphone == true ) {console.log("Mobile"); var slot_3043 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-APP-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-3223715948482-0").addService(googletag.pubads());}else if(Android_Msite == true || is_iOS_Mobile == true){console.log("m site"); var slot_3043 = googletag.defineSlot("/175434344/ETB-MDOT-ADP-HIndi-Delhi-International-300x250-1", [300, 250], "div-gpt-ad-3223715948482-0").addService(googletag.pubads());}else{console.log("Web"); var slot_3043=googletag.defineSlot("/175434344/ETB-ADP-HIndi-Delhi-International-728x90-1", [728, 90], "div-gpt-ad-3223715948482-0").addService(googletag.pubads());} googletag.pubads().enableSingleRequest();googletag.pubads().collapseEmptyDivs();googletag.enableServices(); googletag.display("div-gpt-ad-3223715948482-0");googletag.pubads().refresh([slot_3043]);googletag.pubads().setCentering(true); });
googletag.cmd.push(function() { googletag.display("div-gpt-ad-3223715948482-0");googletag.pubads().refresh(); });
Next
Latest news direct to your inbox.